West Bengal

बच्चों के प्रति अपराध कम करने में बंगाल अग्रणी : मुख्यमंत्री

कोलकाता, 12 जून (हि.स.)। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बाल श्रम रोकथाम दिवस के मौके पर दावा किया है कि उनकी सरकार की कोशिशों की वजह से पश्चिम बंगाल में बाल श्रम में ना सिर्फ कमी आई है बल्कि बच्चों के प्रति अपराध भी बड़े पैमाने पर कम हुए हैं। बुधवार सुबह मुख्यमंत्री ने इस बारे में ट्वीट किया। इसमें उन्होंने लिखा कि आज बाल श्रम रोकथाम दिवस है। बाल श्रम को कम करने के मामले में बंगाल अग्रणी है। पिछले तीन सालों में केवल बंगाल ऐसे राज्य के रूप में उभरा है जहां बच्चों के प्रति हो रहे अपराधों में कमी दर्ज की गई है। 27 मार्च 2018 को संसद में पेश की गई रिपोर्ट में इस बात का जिक्र है। संयुक्त राष्ट्र परिषद के अनुसार हर साल 12 जून को बाल श्रम के खात्मे के लिए श्रमिक संगठन, स्वयंसेवी संगठन और सरकारें विश्व बालश्रम विरोधी दिवस मनाती हैं। सरकारें बाल श्रम को समाप्त करने के लिए बड़े-बड़े वादे करती हैं। बावजूद इन सबके बाल श्रम रुक नहीं पा रहा है। अंतर्राष्ट्रीय श्रम संगठन (आईएलओ) की रिपोर्ट के अनुसार आज भी दुनियाभर में करीब 15.2 करोड़ बच्चे मजदूरी करने को मजबूर हैं। जबकि भारत में जनगणना 2011 की रिपोर्ट बताती है कि देश में एक करोड़ से ज्यादा बाल मजदूर हैं।
बाल मजदूरी और दासता के विरुद्ध संघर्ष करने वाले नोबेल शांति पुरस्कार से सम्मानित कैलाश सत्यार्थी द्वारा स्थापित संगठन बचपन बचाओ आंदोलन(बीबीए) का मानना है कि तकरीबन सात से आठ करोड़ बच्चे नि:शुल्क और अनिवार्य शिक्षा से वंचित हैं।
Print Friendly, PDF & Email
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close