Interviews

मुख्यमंत्री कमलनाथ ने की केन्द्र से मिलने वाली जीएसटी राशि को बढ़ाने की मांग

मुख्यमंत्री कमलनाथ ने की केन्द्र से मिलने वाली जीएसटी राशि को बढ़ाने की मांग
भोपाल, 29 जनवरी । छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में हुई मध्य क्षेत्र परिषद की बैठक में मुख्यमंत्री कमलनाथ ने केन्द्रीय मंत्री अमित शाह से केन्द्र से मिलने वाली जीएसटी की राशि को बढ़ाने की मांग की है। मुख्यमंत्री ने मांग की है कि जो 42 प्रतिशत जीएसटी की राशि मिलती है। उसको 50 प्रतिशत की जाए और समय पर दी जाए ताकि काम समय पर हो सके। प्रदेश सरकार में जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा ने इसकी जानकारी दी।
बुधवार को पत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा ने अलग अलग विषयों पर जानकारी दी। उन्होंने कहा कि 30 जनवरी को महात्मा गांधी की जयंती है। इस अवसर पर पंडित विजय शंकर मेहता सवा करोड़ हनुमान चालीसा का जाप करेंगे। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री कमलनाथ भी शामिल होंगे। इसके अलावा पीएससी परीक्षा में ओबीसी का 27 प्रतिशत आरक्षण बना रहे इस पर स्टडी की जा रही है।
प्रदेश में कोरोना वायरस के लिए जारी अलर्ट पर मंत्री शर्मा ने कहा कि हमीदिया अस्पताल में कोरोना वायरस के लिए आइसोलेशन वार्ड बनाया गया है। अगर संदिग्ध मिलता है तो उसका उपचार वहां पर किया जाएगा। मंत्री शर्मा ने बताया कि अब से ड्राइविंग लाइसेंस नंबर पर और अधिक जानकारी मिलेगी। अगले माह से यह जानकारी मिलना शुरू होगी। इसमें आधार नंबर और अंगदान जैसे जानकारी होंगी।
सुगम होगी मूल्यांकन प्रक्रिया
उच्च शिक्षा विभाग में पुन: मूल्यांकन की प्रक्रिया और सुगम बनेगी। इस संबंध में जानकारी देते हुए जनसंपर्क मंत्री ने बताया कि विद्यार्थी आरटीआई के जरिए अपनी उत्तर पुस्तिका चेक कर सकेंगे। स्वशासी स्वशासी महाविद्यालय के छात्रों को 7 दिन और विश्वविद्यालय के छात्रों को 15 दिन के अंदर आवेदन करना होगा। इसके अलावा शहरी बेरोजगार युवाओं को सरकार 5000 रुपए प्रति माह देगी। मुख्यमंत्री युवा स्वाभिमान योजना के तहत यह राशि दी जाएगी। मनरेगा की तर्ज पर आस्थाई रोजगार युवाओं को मिलेगा।
केन्द्र पर साधा निशाना
इस दौरान जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा ने केन्द्र सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार की आर्थिक स्थिति अभी बहुत कमजोर है, लेकिन उस से ध्यान हटाने के लिए केंद्र सरकार दूसरे मुद्दे पर ध्यान भटका रही है। केंद्र सरकार बेरोजगारों को रोजगार नहीं दे रही है।
Print Friendly, PDF & Email
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close