Delhi

मोदी 2.0 सरकार के पहले बजट को लेकर एक्‍शन में वित्त मंत्री, कृषि‍ प्रतिनिधियों से किया विचार-विमर्श

नई दिल्ली, 11 जून (हि.स.)। वित्त मंत्रालय की जिम्‍मेदारी संभालने के बाद निर्मला सीतारमण ने बजट की तैयारियां शुरू कर दी हैं। निर्मला सीतारमण ने इसी कड़ी के तहत मंगलवार को कृषि और ग्रामीण विकास के प्रतिनिधियों के साथ बजट पूर्व विचार-विमर्श किया।

निर्मला ने किसानों से जुड़े मुद्दों पर की चर्चा

बैठक में किसानों के लिए लोन, छूट, उर्वरकों पर टैक्स समेत कई अहम मुद्दों पर चर्चा की गई। साथ ही आज से 23 जून तक वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण कई क्षेत्रों के प्रतिनिधियों के साथ बजट पूर्व विचार-विमर्श करेंगी।

पिछले हफ्ते पीएम ने किया था समितियों का गठन

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पिछले हफ्ते आर्थिक विकास और रोजगार बढ़ाने के मसलों का समाधान करने के लिए दो मंत्रिमंडलीय समितियों की नियुक्ति की थी। निवेश और आर्थिक विकास पर बनी मंत्रिमंडलीय समिति आर्थिक विकास को रफ्तार दिलाने के साथ-साथ इन्फ्रास्ट्रक्चर और कृषि जैसे प्रमुख क्षेत्रों में निवेश बढ़ाने को लेकर कदम उठाने का सुझाव देगी। वहीं रोजगार और कौशल विकास पर बनी 10 सदस्यीय मंत्रिमंडलीय समिति अधिक रोजगार पैदा करने के अवसर और उपायों को तलाशेगी।

बजट पर 20 जून तक लोगों से मांगा गया है सुझाव
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने प्रमुख उद्योग चैंबर्स, सीआईआई, फिक्की और एसोचैम के साथ बैठक की थी। इस दौरान वित्त मंत्री ने सभी से 20 जून तक अपने सुझाव देने को कहा है। एनडीए की पूर्व सरकार ने एक फरवरी को अंतरिम बजट में घोषणा की थी कि प्रमुख घोषणाएं नियमित बजट में की जाएंगी।

उल्लेखनीय है कि 17वीं लोकसभा का पहला सत्र 17 जून को शुरू होगा और यह 26 जुलाई तक चलेगा। संसद में बजट पेश होने के एक दिन पहले चार जुलाई को वित्तीय वर्ष 2019-20 के लिए आर्थिक सर्वेक्षण पेश किया जाएगा। इसके बाद पांच जुलाई को बजट पेश किया जाएगा।

Print Friendly, PDF & Email
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close