Region

सीएए प्रदर्शन के दौरान पश्चिम बंगाल में हिंसा, दो की मौत

– एक बाइक को आग के हवाले किया गया और एक कार में भी हुई तोड़फोड़
मुर्शिदाबाद, 29 जनवरी । नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) के विरोध प्रदर्शन ने पश्चिम बंगाल में एक बार फिर हिंसक रूप ले लिया है। बुधवार को मुर्शिदाबाद जिले के जालंगी साहिबगंज में प्रदर्शन के बीच चली गोली में दो लोगों की मौत हो गई, जबकि एक व्यक्ति की हालत गंभीर है।
सीएए और एनआरसी के विरोध में बुधवार को मुर्शिदाबाद के जालंगी साहिबगंज में एक संगठन की ओर से हड़ताल का आह्वान किया गया था। सुबह के समय संगठन के कार्यकर्ताओं ने साहिबगंज में यातायात अवरुद्ध कर प्रदर्शन शुरू किया था। इसके बाद आम लोग भी प्रदर्शन के खिलाफ सड़कों पर उतर गए। लोगों का कहना था कि पश्चिम बंगाल में ना तो सीएए लागू होगा और ना ही एनआरसी लेकिन इसके बावजूद इस तरह सड़क जाम करके लोगों को परेशानी में क्यों डाला जा रहा है? इसी बात को लेकर दोनों पक्षों के बीच विवाद और हाथापाई होने लगी। इसी बीच भीड़ के अंदर से किसी ने फायरिंग कर दी।
गोली लगने से सलाउद्दीन शेख (17 साल) और सनारुल विश्वास (60 साल) की मौके पर ही मौत हो गई। गोलीबारी में एक मिजानुर रहमान नाम के एक तीसरे शख्स को भी गोली लगी है, उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है। चिकित्सकों ने गोली तो निकाल दी है लेकिन उसकी हालत गंभीर है। बताया गया है कि मिजानूर टोटो चालक है। घटना के समय वह अपनी गाड़ी लेकर वहां खड़ा था, तभी उसे गोली लगी। नाराज लोगों ने एक बाइक को भी आग के हवाले कर दिया। एक कार में भी तोड़फोड़ की गई। घटना के बाद पुलिस ने मौके पर पहुंच जैसे-तैसे हालात को सामान्य किया। पुलिस सीसीटीवी फुटेज की मदद से संदिग्धों की शिनाख्त करने की जुटी है। फिलहाल किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है।
Print Friendly, PDF & Email
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close